Bhabhi Aap Bade Maje Se Muth Marti Ho

BHABHI आप आप बहुत अच्छा मुठ मारती हो और मेरा लण्ड से पानी

मेरे पड़ोस में एक नई BHABHI आई थी। उनका नाम सिमरन था, सिमरन BHABHI की उम्र 30 साल थी और वों दिखने में बहुत ज्यादा खुबसुरत और सेक्सी थी। सिमरन BHABHI की चुचिया बहुत बड़ी-बड़ी थी वों हमेशा साड़ी ही पहनती थी और उनके BLOUSE में उनकी चुचियो का उभार अलग ही नजर आता था।उनकी चुचियो कों BLOUSE के अंदर से देख कर ही LUND खड़ा हो जाता था। उनका सारा बदन ही सेक्स के लिए बना था। मेरी सिमरन BHABHI से दोस्ती हो गयी थी। और उनके पति से भी अच्छी जमने लगी थी। में सिमरन BHABHI कों CHODNE के सपने देखने देखने लगा था लेकिन में उनसे पूछने की हिमत नही कर पाता था। एक दिन सिमरन BHABHI ने मुझे अपने घर बुलाया में उनके घर चला गया हमारा घर ज्यादा दूर नही था।
BHABHI और में सोफे पर बेठ गए फिर मेने BHABHI से पूछा की आपको कुछ काम था क्या मेरे से।
तो उन्होंने मुझसे पूछा की तुम आज रात यहा रुक सकते हों क्या मेरे पति बहार जा रहे हें काम से।
तो मैने हा बोल दी क्योकि में घर पर भी अकेला था सब घुमने गए हुए थे।
BHABHI ने उनसे भी बोल दिया की वरुण मेरे साथ रह लेगा आज फिर वो चले गये

Watch Some Great Mom Son Fucking Videos

सिमरन BHABHI ने सुबह होने पर मुझे नाश्ता दिया और फिर हम साथ में बेठ कर बाते करने लगे बात करते -करत बीच में फ़ोन आ जाता हें वों फ़ोन उनके पति का था। BHABHI थोड़ी उदास हों गई तो मैने पूछा BHABHI सब ठीक तो हे ना। तो वों बोली वरुण मेरे पति एक महिना घर नही आ सकते वों विदेश में गये हें उन्होंने अभी बताया…क्या तुम मेरे साथ 1 महीना रह सकते ह़ो । मेने कहा आप चिंता मत करो BHABHI मे रह लूँगा आपके साथ वेसे भी मेरी छुटिया चल रही हे और घर पर भी में अकेला ही हूँ।
फिर सिमरन BHABHI बोली- ठीक हे, thanks यहा रुकने के लिए तुमने मेरी आधी टेंसन दूर कर दी।
में-अरे BHABHI इसमें थैंक्स की क्या बात हें हम दोस्त भी तो हें ना दोस्ती में तो इतना चलता हें।
हम दोनों बात कर रहे थे तभी गेट पर बेल बजी BHABHI ने गेट खोल और फिर एक आदमी कार्ड दे गया।
वों पार्टी का invition कार्ड था।
BHABHI ने मुझसे कहा की वरुण रात 8 बजे पार्टी में चलना हें हमे ठीक ह़े मना मत करना।
फिर मेने कहा ठीक हे BHABHI अब आपको केसे मना कर सकता हूँ।मे फिर BHABHI के रूम में tv देखने लगा
अब 7 pm हों गये थे।
BHABHI अब नहा कर बाल सुखा रही थी वों पार्टी में जाने के लिए तैयार हो रही थी।
में पहली बार किसी के साथ पार्टी में जा रहा था।
सिमरन BHABHI नें मेरे आगे 5 साड़ी रखी और मेरे से पूछने लगी की में आज कौनसी साड़ी पहनू।
में-जो आपको अच्छी लगे वों पहन लों
सिमरन BHABHI- बता भी दो ना अब फिर देर हों रही हें।
में-BHABHI आप ये साड़ी पहन लों…मेने उन्हें नेट की साड़ी suggest क़ी…
सिमरन BHABHI-बहुत अच्छी पसंद हें तुम्हारी
फ़िर सिमरन BHABHI कपड़े बदलने दुसरे कमरे में चली गई। फिर मेने टीवी बंद कर दिया और में भी तैयार हों गया और फिर बेड पैर बेठ कर BHABHI का इंतजार करने लगा। सिमरन BHABHI साड़ी पहन कर आ गई और मुझसे पूछा की में कैसी लग रही हूँ।
में उन्हें देखता हीं रह गया। उन्होंने काले रंग की नेट की साड़ी पहनी थी और deep गले का BLOUSE पहना था जिसमे उनकी मस्त चुचिया उबर कर नजर आ रही थी। मेरा मन कर रहा था की सिमरन BHABHI की चुचिया मसल दूँ लेकिन में ऐसा नही कर सकता था क्योकि मेरी हिमत ही नही हो रही थी अपने दिल की बात बोलने की। में उन्हें ही देखता रहा तो वो बोली…वरुण कभी कोई लड़की नही देखी क्या जो मुझे ही देखे जा रहे हो BHABHI हस्ते हुए बोल रही थी।
BHABHI आप बहुत सेक्सी लग रही हों मेने एक बार में ही बोल दिया। मेने उन्हें सेक्सी कह तो दिया पर में थोडा डर भी गया की कही उन्हें बुरा तो नही लगा। पर उन्हें बुरा नही लगा वों थोडा शरमाते हुए बोली thanks…
फिर वों ड्रेसिंग टेबल के सामने बेठ गई और मेकअप करने लगी वों मेरी तरफ पीठ करके बेठी थी में सिमरन BHABHI की पतली और कामुक कमर को देखता ही रह गया। फिर BHABHI गले मै हार पहनने लगी पर उनसे वों बंध नही रही थी गले में।
फिर मेने सिमरन BHABHI से पूछा की सिमरन BHABHI में मदद कर दूँ क्या आपकी इसे बांधने में BHABHI ने हा बोल दिया।
फिर में आगे बढ़ा और उनके पीछे खड़ा हों गया और हार को बांधने लगा,मेरी नजर उनकी की चुचियो पर पड़ गयी वों ड्रेसिंग टेबल में दिख रही थी। मेरा LUND खड़ा हो गया BHABHI की मस्त चुचियो को देख कर हालाकि वो नंगी चुचिया नही थी वों थोड़ी सी ही नज़र आ रही थी, फ़िर मेने जल्दी से हार बांध दिया और फ़िर मैने पूछा की अब आप रेडी ह़ो गयी हो तो में बाइक निकालू बहार, वों बोली हाँ निकाल लों और BHABHI नें बाइक की चाबी दी और में चलने लगा तभी सिमरन BHABHI नें मुझे रुकने को कहा और में रुक गया और कहा बोलो BHABHI क्या हुआ। सिमरन BHABHI ने ड्रेसिंग टेबल में एक बॉक्स खोला उसमे से BHABHI ने 6 लिपस्टिक निकाली और मेरे से पूछने लगी की में कोनसी लिपस्टिक अच्छी लगेगी मेरे होटों पर.. में बोला सारी अच्छी लगेगी आपके होटो पर BHABHI फिर बोली सबसे अच्छी बताऊ ना कोनसी हें म प्लीज़…फ़िर मैने no.5 पर रखी बबता दी मैने ऐसे ही बोल दिया था। फ़िर BHABHI ने लिपस्टिक उठाई और लगाने लगी उनका मुहँ मेरी तरफ ही था वों लाल लिपस्टिक थी।
में उनके होंट ह़ी देख रहा था…वों बहुत सेक्सी अंदाज में लिपस्टिक लगा रही थी उन्हें लिपस्टिक लगाते देख मेरा LUND खड़ा होंने लग गया…मेरा सिमरन BHABHI के होंटो पर मुठ मारने का कर रहा था वों लिपस्टिक ह़ी बहुत सेक्सी तरीक़े सें लगा रही थी। लिपस्टिक लगाने क़े बाद मुझसे पूछा की देखना कैसी हें मेरी लिपस्टिक में बोला बहुत सेक्सी हें सिमरन BHABHI
वों थोडा शरमा गई और बोली thakns,,,,
मेरा मन तो कर रहा था की जिन होटो से BHABHI thakns बोल रही हे उन्हें चुम ही लूँ फ़िर हम पार्टी में चल दिए।
(हम पार्टी में BHABHI के हस्बैंड की बाइक पर जा रहे थे)
BHABHI मुझे कस के पकड़ कर बेठी थी और जब में ब्रैक लगाता तब उनकी मुलायम चुचिया मेरी कमर पर लगती जिससे मेरा LUND खड़ा हो गया फ़िर में जानबूझ कर ज्यादा ब्रैक लगाने लगा …..फिर पार्टी से आते हुए भी ऐसे ही करता रहा। हम बाइक पर बाते कर रहे थे की तभी अचानक एक वेन हमारा रास्ता रोक लिया और फ़िर मुझे बाइक रोकनी पड़ी तब रात के 9 बज रहे थे।
और वो इलाका काफी सुनसान था तभी उस वेन में से 2 आदमी निकलते हें और हमारी तरफ उतर कर आते हें मुझे जिससे पहले कुछ समझ में आता तभी उन गुंडों ने मुझे बाइक से निचे गैर दिया और सर में डंडा मार दिया में वही गिर पड़ा और उन्होंने सिमरन BHABHI कों छेड़ना शुरू कर दिया वों गुंडे मुझे मरा सोच रहें थे पर मुझे ज्यादा चोट नही लगी थी। उन्होंने सिमरन BHABHI कों छेड़ना शुरू कर दिया वों गुंडे मुझे मरा सोच रहें थे पर मुझे ज्यादा चोट नही लगी थे
सिमरन BHABHI रोते हुए बोली ये क्या कर रहे हो तुम सब उनमे से एक गुंडा बोला …साली रंडी तेरी CHUT का भोस्ड़ा बनायेगे हम आज BHABHI डर गयी और बोली प्लीज़ ऐसा कुछ मत करना में हाथ जोडती हूँ आपके आगे फिर वो BHABHI की चूची की तरफ देखते हुआ बोल साली तेरे जेसे सेक्सी माल को केसे छोड़ सकते हे आज.. आज तों हम सब मिलकर CHUT मरेगे तेरी …फ़िर BHABHI विरोध करने लगी पर फिर उन्होंने BHABHI को जान से मारने की धमकी दी और बंदूक से उन्हें डराने लगे और BHABHI अब बहुत डर गयी… फिर में खड़ा हुआ और बोला सालो छोड़ दो मेरी BHABHI को और में उनके पास गया पर उन्होंने मुझ पर बंदूक तान दी और बोले जिन्दा रहना हे तो चला जा यहा से या तू भी इस मस्त माल को चोद लें फिर मुझे गुस्सा आ गया फ़िर मे विरोध करने लगा पर मुझे एक गुंडे ने सर पर डंडा मार दिया और में वही गिर पड़ा फिर वों BHABHI को सडक किनारे ले गये और BHABHI की साड़ी खोलने लगे… में फिर खड़ा हो गया और मेने पुलिस क़ो फ़ोन कर दिया फ़िर में छुप कर उनके पीछे खड़े पेड़ के पास खड़ा हो गया…उन गुंडों ने BHABHI की साड़ी खोल दी अब सिर्फ वों PETTICOAT और BLOUSE में थी BHABHI बहुत रो रही थी और वो BHABHI को गाली दे रहे थे बोल रहे थे की चल साली रंडी नंगी होज़ा अब नही तुझे ज्यादा दर्द होगा अगर प्यार से करेगी तों तुझे चुदने में मजा आयेगा और नही करेगी तो तुझे सिर्फ दर्द होगा और हमे मजा आएगा…..अब मेरे से और इंतजार नही हुआ पुलिस के आने का मैने डंडा हाथ में लिया गुंडे अपनी पेंट खोलने में बिजी थे मेने दोनों के सर में डंडा मारा और दोनों वही गिर पड़े पर वो मरे नही
फ़िर मेने BHABHI को खड़ा और हम सडक पर अ गये फिर तभी पुलिस आ गई फिर पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया अब भी BHABHI रो रही थी फ़िर मेने कहा डरने की कोई जरूरत नही हे अब BHABHI ने साड़ी बाँध ली और फ़िर वों रोते हुए मेरे गले लग गयी और बोली तुमने आज मुझे उन गुंडों से बचा लिया वरना मेरी जिन्दगी बर्बाद हो जाती तुमने मुझे अकेला नही छोड़ा वरना कोई और होता तो डर के बाघ जाता में केसे शुक्रिया अदा करू समझ नहीं आ रहा….
फ़िर में बोंला BHABHI ये तो मेरा फर्ज था और इसमें शुक्रिया अदा करने ज़ेसा कुछ नही हें।
11:00 pm फ़िर हम घर आ गए …घर आते ह़ी BHABHI ने पहले अपना बैग और पर्स रखा (हमने पार्टी से आते हुए थोड़ी शोपिंग की थी)
और फ़िर उनकी आखों में आसू आ गये वों अभी भी थोडा डरी हुई थी।
उन्हें रोते देख में उनके पास गया और उन्हें समझाया क़ी अब डरने क़ी जरूरत नही हें और ना ह़ी रोने की जरूरत हे। फ़िर मेने BHABHI का ध्यान कही और लगाने की सोची जिससे वों नोर्मोल हों जाए। मेने BHABHI से बोला की BHABHI आज नया हार लाई हों मुझे पहन कर नही दिखाओगी
फ़िर कुछ देर बाद BHABHI ने अपने आसूं पूछे और ड्रेसिंग टेबल कें आगे बेठी और पुराना हार निकाल कर नया पहनने लगी और फ़िर में उनके पीछे खड़ा हों गया मेरी नजर एक बार फ़िर उनकी चुचियो पर पड़ गयी और मेरा LUND खड़ा होने लगा मेरा मन कर रहा था की सिमरन BHABHI का BLOUSE निकाल कर उनकी चुचिया मस्ल दूँ।
फ़िर वों खड़ी हुई और मुझसे पूछा कैसा हे हार तों में बोल बहुत अच्छा हें BHABHI।
फ़िर BHABHI ने हार निकाल कर रख दिया और वों सोने क़े लिए चलने लगी फ़िर मैने BHABHI कों रुकने कों कहा वों रुकी और पूछा क्या कहना हें बोलो फ़िर में बौला की BHABHI आप दो और लिपस्टिक लायी हें जरा लगा कर दिखाओ ना फ़िर वों मुस्कारने लगी और फ़िर BHABHI ने पर्स में से लिपस्टिक निकली और अपने होटो पर लगाने लगी उन्हें लिपस्टिक लगाते देख LUND और मोटा हो गया क्योकि वों बहुत ही सेक्सी अंदाज में लिपस्टिक लगाती थी।वों हल्के लाल रंग की लिपस्टिक थी। (हम दोनो ने पार्टी में थोड़ी ड्रिंक ली थी उसका हल्का सा नशा अभी भी था)
फ़िर में बोला की BHABHI वों दुसरे वाली लिपस्टिक लगाओ मुझे वों ज्यादा अच्छी लग रही हें।
फ़िर वो बोली दो लिपस्टिक ज्यादा डार्क हों जाएगी मेरे थोडा कहने पर वों दूसरी लिपस्टिक भी अपने सेक्सी होटों पर लगाने लगी अब उनके लिप्स बहुत सेक्सी और जूसी हों गए मेरा मन कर रहा था की उनके होंट कों खा ही जाऊ चूम-चूम कर और मन कर रहा था की सिमरन BHABHI का मुहं चोद दूँ और उनके होंटो पर मुठ मार लूँ।…लिपस्टिक लगाने क़े बाद वों बोली बोलों कैसी लग रही हूँ अब में बोला BHABHI बहुत सेक्सी लिपस्टिक ह़े आपकी मन कर रहा हे की आपको चुम लूँ (में थोडा नशे में था तो जो मुहं में आया बोल दिया )
BHABHI मुस्कराते हुए बोली तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नही हे क्या?
में बोला BHABHI मेरी सच में ही कोई गर्लफ्रेंड नही हें….फ़िर मैने देखा की BHABHI की लिपस्टिक थोड़ी बहार निकली हुई थीं तों मैने उन्हें बताया वों रुमाल देखने लगी तभी अचानक मुझे पता नही क्या हुआ में तभी सिमरन BHABHI क़े करीब बढा और कहा अरे में साफ कर देता हु ना ….मैने उंगलियों से उनके होंट साफ किये जब मेरी ऊँगली उनके होटों पर लगी तो मेरा LUND पूरा तन गया … BHABHI थोडा शरमा रही थी लेकिन कुछ कह नही रही थी| में BHABHI के बिल्कुल पास में खड़ा था मेने BHABHI से पूछा क़ी BHABHI आपसे कुछ कहना हें लेकिन आप गुस्सा मत होना BHABHI मुस्कुराते हुए बोली प्रपोज करोगे क्या मुझे जो इतना डर रहें हों। में थोडा हिचकिचाते हुए बोला क़ी BHABHI में आपको होंट चूमना चाहता हूँ।
( मैं और सिमरन BHABHI अभी भी हल्के सें नशे में थे)
BHABHI ने मुझे कहा की पागल हो क्या में ये नही कर सकती।
में-BHABHI लैकिन क्यों नही ह़ो सकता ये?
सिमरन BHABHI- क्योकि में ऐसा कुछ नही करना चाहती जिससे मेरी बदनामी हों
में- BHABHI ये बात सिर्फ हम दोनों कें बीच ही रहेंगी प्लीज़ BHABHI मना मत करना! और आप मेरा शुक्रया अदा करना चाहती थी तों होंट चूमने की permison दे दों( में थोडा नशे में था मेरे मुहँ में जो आया बोल दिया) सिमरन-(वों शरमा रही थी पर गुस्सा नही थी) अगर में प्रेग्नेट हों गयी तो?
(BHABHI को भी थोडा नशा अभी भी हो रहा था अब वों भी जो मन में आया बोलने लगी..और शायद वों थोड़ी गर्म भी हो गयी थी)
में-BHABHI में सिर्फ होंट चूमने की बात कर रहा हु चु (में बीच में ही चुप हो गया)
सिमरन -अगर तुम चुमते-चुमते कुछ और करने लगे तों?
में-BHABHI में और कुछ नही करुगा मुझे तो सिर्फ होंट चूमने हे आपके….में वादा करता हूँ होंट चूमने के अलावा कुछ नही करुगा…..प्लीज़ BHABHI मान जाओ। सिमरन -ह्म्म्म्म्म…..ठीक हें पर सिर्फ होंट ही चूमना और हा तुम दुसरे इन्सान हो जिसे मुझे चूमने का मोका मिला हें।
में- BHABHI धन्यवाद अपने जों हा बोल दी।
सिमरन BHABHI-अब में जिससे पहले मना कर दूँ उससे पहले चूम ही लो! वेसे तुमने सच में कभी किसी कों नही चूमा?
मे-नही आप पहली हो.
फिर में आगे बढ़ा और सिमरन BHABHI के गालो कों हल्का सा पकड़ा और उनके सेक्सी होटो पर अपने होंट रख दिए हम दोंनो क़े होंट एक दुसरे से धकन की तरह चिपक गये BHABHI के होंट बहुत सॉफ्ट थे और उनकी लिपस्टिक से उनके होंट और भी जूसी लग रहे थे। में पूरा गर्म हो गया मेरा लोडा पूरा फुल गया।अब में धीरे-धीरे होंटो को चूमने लगा और BHABHI भी धीरे-धीरे चूमने लगी। अब हमने चूमने की रफ़्तार थोड़ी बढ़ा दी।मैने फ़िर BHABHI कों अपने से अलग किया और कहा BHABHI बेड पर लेट कर चूमा-चाटी करेगे BHABHI मान गई ।BHABHI ने जो लिपस्टिक लगाई थी वो अब मिट चुकी थी थोड़े से चूमने सइ ही मैने BHABHI से कहा सिमरन BHABHI एक बार और लगा लो लिपस्टिक वो हट गयी हें और हा लिपस्टिक डार्क ही लगाना। फ़िर BHABHI ने पहले वाली डार्क रेड लिपस्टिक लगाई और उसके उपर एक और लिपस्टिक लगाई मैने BHABHI से पूछा की आपने दूसरी लिपस्टिक क्यों लगाई? BHABHI बोली दूसरी लिपस्टिक से लिपस्टिक नही हटेगी ये किस पुरुफ हें। फ़िर BHABHI बेड पर मेरे पास बेठ गई फ़िर हम दोनों एक दुसरे की तरफ मुहँ करके लेट गये और फ़िर पास आये और एक दुसरे एक होंट पर होंट रख दिए और चूसने लगे इस बार हम जोर-ज़ोर से होंट चूसने लगे पूरे कमरे में अब हमारे चुमनो की आवाज गुजंने लगी थी। मेरा मन अब उन्हे CHODNE का मन कर रहा था पर मैने कंट्रोल रखा । हम एक दुसरे एक होंट ह़ी खा जाने कों तेयार लग रहे थे हम वाइल्ड हो गये थे।
मैने BHABHI के मुहँ में अपनी जीब घुमाने लगा और वो भी यही करने लगी।हम 35 मिनट तक लगातार एक दुसरे एक होंट चूसते रहे।फ़िर हम अलग हुए और हम एक दुसरे को ही देख रहे थे। हमने इतनी जबरदस्त चूमा-चाटी की थी की सिमरन BHABHI की किस प्रोफ लिपस्टिक भी में चुमनो में साफ हो गई थी। सिमरन-ऊफ़्फ़्फ़्फ़्फ़ आज-तक मैने इतनी देर तक चूमा-चाटी नही की।
वों इतना बोली ही थी क़ी मैने फ़िर से उनके होंट पर होंट रख कर उन्हें चूसने लगा।
(अब अगली अपडेट पड़ना मत भूलना दोस्तों….अगली अपडेट में हमने केसे पूरी रात मस्ती की और चूमा चाटी से आगे क्या किया ये सब जानेगें अगली अपडेट मे) सिमरन BHABHI ने मुठ मारा!
अब आगे- फ़िर मै BHABHI कों फ्रेंच किस करने लगा इसमें BHABHI भी पूरा साथ दे रही थी BHABHI गरम होने लगी थी। BHABHI क़ी साँसे भी तेज चलने लगी थी और ।मेरा LUND पूरे उफान पर खड़ा था अब मन कर रहा था की BHABHI की CHUT चोद दूँ। अब सिमरन BHABHI कें होंट चूसते-चूसते मै BHABHI की चुचिया एक हाथ से ही उनके BLOUSE के उपर से ही दबानी शुरू कर दी फिर BHABHI कुलने लगी वो म्म्म्म्म्म्म्म क्योकि में होंट चूस रहा था तों वो कुछ बोल भी नही पा रही थी। मैने अपना हाथ उनके BLOUSE के बिलकुल उपर ले गया और उनके उभारो में घुसा दिया क्योकि BHABHI ने डीप गला पहना था तो उपर काफी खुला हुआ था।जब हाथ उनकी मुलायम चुचियो पर मेरा हाथ पड़ा तो मेरा हल्का सा वीर्य ही निकल गया।में अब सिमरन BHABHI का BLOUSE खोलने ही वाला था की तभी BHABHI ने मुझे अपने से अलग किया और कहा कुछ ज्यादा ही हो गया BHABHI की साँसे अभी भी बहुत तेज़ चल रही थी मेरी नजर BHABHI की मस्त चुचियों पर पड़ी जो जोर -जोर से हिल रही थी जों की उनकी सांसो की वजह हिल रही थी। फ़िर BHABHI ने अपनी चुचिया ढक ली। फ़िर हम दोनों सों गये फ़िर मेरी आखं सुबह 7 बजे खुली, जब मेरी आखं खुली तब मैने देखा की हम दोनों एक दुसरे से लिप्ट कर पड़े थे मेरा हाथ उनके पेट पर था* फिर में वहा से उठा मेरी नजर फ़िर BHABHI की चुचियों पर पड़ी उनके चुचे पर साड़ी का पलू हटा हुआ था फ़िर में उनके करीब गया और उनकी चुचियों को 5-6 बार छुआ फ़िर मे फ्रेश होन चला गया। जब में वापस आया तों देखा की BHABHI भी उठ चुकि थी और फ़िर BHABHI भी फ्रेश होने चली गयी।
में BHABHI के बेड पर बेठ कर टीवी देखने लगा कुछ देर बाद BHABHI नहा कर आ चुकि थी।
में और BHABHI जो कल रात आधे-अधूरे नशे में हुआ था उसकी वजह से हम बात भी नही कर पा रहे थे।
BHABHI मेरे पास बैठ कर अपने बाल बहा रही थी वों थोडा टेंशन लग रही थी और में उसकी वजह भी जान गया था तो में BHABHI से बोला की BHABHI आप टेंशन मत लीजिये जों कल रात हम दोनों के बिच हुआ उस बारे में किसी को कुछ नही पता चलेगा।
फ़िर BHABHI खुश हुई और बोंली….थेकंस वरुण वेसे तुम किस बहुत अच्छी करते हों।
BHABHI की ये बात सुन कर में थोडा हेरान भी हुआ और खुश भी….BHABHI अब थोड़ी खुल चुकि थी ।
हम दोंनो फ़िर बाते करने लगे …मेरी नजर उनकी होटो से नही हट पा रही थी और मैरा मन फ़िर से किस करने का हो रहा था। मुझसे ज्यादा देर कंट्रोल नही हुआ और मेने उनके* रसीले होंटो पर अपने होंट रख दिए फ़िर BHABHI भी मेरा पूरा* साथ देने लगी हम दोंनो एक दुसरे कों ऐसे चूसने लगे जैसे जन्मो से भूखे हों। में BHABHI के मुहं में जीब डालने ही वाला था क़ी तभी BHABHI का फ़ोन बज गया फ़िर BHABHI ने मुझे कहा क़ी में अपनी फ्रेंड्स के पास जा रही हूँ शाम तक ही घर आ पाऊंगी। फ़िर BHABHI तैयार ह़ो गई और फ़िर चली गई। अब में घर में अकेला था और BHABHI को गए भी बहुत देर हो गई थी अब दोपहर का वक़्त था।
मेरे दिमाग में BHABHI क़ी किस ही घूम रही थी अभी तक मेरा मन उन्हें CHODNE का भी कर रहा था।
फ़िर मैने अपना फ़ोन निकाला और उसमे BHABHI की फ़ोटो देखने* लगा जो कल मैने* ही खिचीं थी उन फ़ोटो को देख कर मेरा LUND पूरा तन गया मुझसे अब कंट्रोल नही हो रहा था मैने अपनी पेंट उतार दी और निचे से पूरा नंगा हो गया और फ़िर सिमरन BHABHI की फ़ोटो फोन में ओपन करके* (में बेड पर ही था ) फ़िर में BHABHI के नाम की मुठ मारने लगा । फ़िर मैने BHABHI की फ़ोटो पर मुठ मार दी सारा वीर्ये उनकी फ़ोटो पर यानि मेरे फ़ोन पर गिर गया,अचानक मेरी नजर सामने गेट पर पड़ी तो मेरे होश ही उड़ गए सिमरन BHABHI ने मुठ मारते हुए देख लिया हालाकि BHABHI शरमा कर दुसरे कमरे में चली गई। फ़िर मैने जल्दी से पेंट पहन ली और फ़िर नहाने चला गया फ़िर BHABHI अपने रूम में चली गयी जिस रूम में मैने मुठ मारी थी। में नहा कर BHABHI के पास जा रहा था लेकिन मुझे डर भी लग रहा था की BHABHI क्या सोच रही होंगी। में कमरे के बहार से BHABHI का मुड देख रहा था तभी मेरे होश ही उड़ गए में अपना फ़ोन वही भूल गया था जिसपे मेरा वीर्ये पड़ा था फ़िर BHABHI मुझसे बोली की वरुण यहा बेठो मेरे पास में सोच रहा था की अब क्या होगा फ़िर में बेड पर बैठ गया। BHABHI अभी भी मेरा फ़ोन लेकर बेठी थी में फ़ोन को घुर रहा था तभी BHABHI की नजर मुझ पर पड़ी और बोली वरुण तुम फ़िक्र मत करो मेने साफ़ कर दिया हे फ़ोन वैसे तुम मुझे पसंद करने लगे हो क्या वरुण?
में कुछ नही बोल पाया में डरा हुआ था! फ़िर BHABHI ने कहा देखो वरुण मुझसे डरो मत ये बात में किसी को नही बताउंगी लेकिन तुम्हे मेरा एक काम करना होगा?
में-क्या?बताओ?
सिमरन BHABHI-मेरे सामने* वों करो जो मेरे पीछे कर रहे थे?
(BHABHI शरमा भी रही थी)
में- लेकिन BHABHI
सिमरन-अगर नही करोगे तों मेरी फ़ोटो पर वो निकलने की बात अपने पति को बता दूंगी ?
में-BHABHI ये क्या बोल रही हो आप?
सिमरन-ठीक हें,में फ़ोन कर रही हूँ फ़िर!
में- नही BHABHI,ठीक हे में करूंगा वों ही जो आपके पीछे किया
सिमरन-ठीक हे,पेंट खोलो अपनी,और में सिर्फ़ देखूंगी ठीक हे तुम मुझे हाथ भी मत लगा देना वो निकलते समय?
में-ठीक हे, BHABHI जों आपका हुक्म! (में अपनी पेंट शर्म की वजह से खोल ही नही पा रहा था)
सिमरन-क्यों इतना शरमा रहे हो वरुण चलो जल्दी से नंगे हो जाओ(BHABHI ने मेरी पेंट का बटन खोल दिया )
(अब में भी खुल गया और LUND को हाथ से पकड़ लिया अभी मेरा LUND ज्यादा खड़ा नही हुआ था)
सिमरन-अभी कुछ करना पड़ेगा शायद तुम्हारा खड़ा करने के लिए(फ़िर BHABHI मेरे आगे बैठ गयी और अपनी चुचिओ पर से साड़ी का पलू खोल लिया….BHABHI ने मेरा एक चूमा भी लिया और फिर पीछे हट गयी) मेरी नजर उनकी चूची पर पड़ते ही LUND खड़ा होने लगा अब वों भी मेरे LUND को देख रही थी (
सिमरन- बहुत मोटा हे ये तों? गर्लफ्रेंड तों जरुर होग?
में-नही हे BHABHI!
(अब मेंने BHABHI को देखते हुए मुठ मारना शुरू कर दिया)
मुझे LUND हिलाते-हिलाते 25 मिनट हो गई अब में झड़ने ही वाला था तों मैने BHABHI से कहा की BHABHI निकलने वाला हें निकलने वाला हें चादर पर ही निकाल दू क्या सिमरन-नही,रुको एक मिनट(फ़िर BHABHI तेज़ी से उठी और अपनी एक ब्रा लाई और मुझे दी और कहा इसमें निकालो बाद में धो दूंगी)
मैने कोई सवाल नही किया और सिमरन BHABHI की ब्रा में ही मुठ मार ली, BHABHI ने मुझसे कहा की अब जब भी में तुम्हे याद आऊ तो बेफिक्र होकर मुठ मार लिया करो मेरे सामने ही ,फ़िर BHABHI और में सो गये!
अब रात के 10 बज गये थे BHABHI नहाने चली गयी…मे अब नंगा हो गया क्योकि अब मुझे डर नही था BHABHI का , में नंगा बेड पर लेट गया और LUND हिलाने लगा तभी BHABHI आ गई …मे BHABHI को देख कर और भी गर्म हो गया BHABHI ने लाल रंग का नाईट सूट पहना हुआ था और फिर BHABHI लाल रंग की लिपस्टिक लगायी और मेरे पास खड़ी हुई और बोली वरुण तुम मेरे नाम की कितनी बार मारते हों तुम BHABHI ने मेरे हाथो में मेरा हाथ लिया और कहा वरुण आज में निकलती ही तुम्हारा में ये सुन कर खुश हुआ!* फ़िर BHABHI मेरे पास बेठ गयी और मेरे LUND से खेलने लगी
आज पहली बार किसी ने मेरा LUND छुआ था
(हम दोनों का ही चुदाई को मन हो रहा था पर हम दोनों बहुत धीरे-धीरे ही खुल रहे थे)
15 मिनट बाद….
BHABHI अब मेरे LUND को ज़ोर से हिलाने लगी,मैने BHABHI से कहा की BHABHI अपने लाल होंट मेरे होटों पर रखो और LUND हिलाओ फ़िर BHABHI मेरे ऊपर लेट गयी और मेरे होट पर अपने लाल होट रख दिए और फ़िर मैने BHABHI के मुहँ में जीभ घुसा दी BHABHI मेरे LUND को औरर से हिलाने लगी चुमते हुए ही……फ़िर BHABHI ने मुहँ दूर किया और कहा मुहँ के अंदर बाद में जीभ डालना पहले मेरे लाल होटो को चूस कर सारा रस पि जाओ फ़िर से उन्होंने होटो पर होंट रख दिये,में अब BHABHI के होट चूसने लगा ,अब में झड़ने ही वाला था मैने BHABHI के होटो से होट अलग किये और कहा की मेरा मुठ निकलने वाला हें आपके हाथ गंदे हो जायेगे तो BHABHI ने कहा कोई बात नही मेरे हाथ में ही निकलने BHABHI ने दोनो हाथो के बीच मेरा LUND ले कर उसे दबाने लगी मेरी आखें बंद हो गयी थोड़ी सी ,तभी मेरे LUND ने पिचकारी की तरह वीर्ये निकाल दिया , विर्य इतनी तेज़ और ऊचाई तक निकला की BHABHI की चुचिया उपर से ही नहा गई
में- BHABHI आप आप बहुत अच्छा मुठ मारती हो
BHABHI-और तुम वीर्य अच्छा निकालते हों, चलो अब कपड़े पहन लो ,में भी कपड़े बदल लेती हूँ
फ़िर में कपड़े बदल लेता हूँ और BHABHI कपड़े बदल कर ड्रेसिंग टेबल के सामने खड़ी होकर बाल बाधने लगती हे…में बेड पर लेट कर सिमरन BHABHI को ही देख रहा था फ़िर में उनसे बोला….
में-BHABHI आप आज आप ऑरेंज लिपस्टिक लगा कर सोना, मुझे आपके होट चूम कर ही नींद आयेगी
BHABHI-क्यों में आपकी पत्नी हूँ क्या?
में- नही गर्लफ्रेंड!
BHABHI-ठीक हें ,चूम लेना (फ़िर BHABHI लिपस्टिक लगाती हें और बेड पर मेरे से चिपक कर लेट जाती हे)
(हम एक दूसरे को बुरी तरह चूमने लगे)
(अगली अपडेट जरुर पढ़े क्योकि वो इस से 10 गुना अच्छी होगी..अगली अपडेट में BHABHI की चुदाई होगी,CHUT की या गांड की या किसी और चीज़ की ये अगली अपडेट में पता चलेगा)
[दोस्तों मैने ये अपडेट 2 दिन पहले ही लिख दी थी लेकिन तकनिकी समस्या के कारण अपडेट देर से हों पाई]

Print This Page

Related posts